दीदी को ग्रुप में चोदा एक साथ तीन तीन लंड दीदी के चूत में - XXX STARLINK

Thursday, September 27, 2018

दीदी को ग्रुप में चोदा एक साथ तीन तीन लंड दीदी के चूत में

.. ..

loading…


Sex Story: Didi (Bahan) ki Chudai हेलो दोस्तो. मेरा नाम नरेश है आज मैं आपको मेरे पूजा दीदी के ग्रूप चुदाई की कहानी बताने वाला हू .


पूजा दीदी की हिगत 5.6 फीट है.बूब्स बड़े बड़े और कमर भी बहूत ही शेप मैं. और गांद तो ऐसी थी जब वो चलती थी तो मुहल्ले के सारे लड़को का लंड खड़ा हो जाता था .शादी के बाद दीदी पुणे मैं अपने सास-ससुर के साथ रहती थी.जीजा जी काम के सिलसिले मैं गुजरात मैं रहते थे वो मंत मैं 1 बार ही आते थे.


अब मैं सीधा स्टॉरी पे आ जाता हू .तो बात उस दिन की है जब मेरा MBA ख़त्म हुआ तो जॉब सर्चिंग केलिए मैं पुणे गया तो दीदी के यहा ही रहने लगा.


दिनभर जॉब के लिए इंटरव्यू देता और रात मैं घर पे आ जाता.
एक रात मैं 2 बजे मैं पानी पीने उठा तो दीदी के रूम से कुछ आवाज़े आने लगी .मैने ज़ाक के देखा तो दीदी बेड पर नंगी लेटी थी अपने चूत और बूब्स को सहला रही थी और किसी से फोन पे बात कर रही थी .धीमी लाइट मैं दीदी के बूब्स ऐसे चमक रहे थे के ऐसा लग रहा था की मैं जाकर दीदी को चोद डालु.
थोड़ी देर बाद दीदी चूत को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगी और शांत हो गई.
फिर मैं अपने रूम मैं आया और मूठ मार के सो गया .दूसरे दिन मैने दीदी का मोबाइल चेक किया तो उसके मोबाइल मैं उसके बहूत सारे नंगे फोटोस थे.मैने फिर से मूठ मारी .


4-5 दिन मैने कुछ नही बोला और एक दिन दीदी के सास ससुर किसी के शादी के लिए 2 दिन के लिए बाहर गये थे.


तो दोपहर मैं खाना खाने के बाद मैने प्लान बनाया के दीदी से आज पूछ ही लेता हू.


तो फिर मैने दीदी को दोपहर मैं डाइरेक्ट पूछ लिया के ये सब नंगी फोटोस तुम किसको भेजती हो ?



loading…


दीदी घबरा गई और रोने लगी .वो कहने लगी की किसिको बताना मत .
लेकिन मैने उसे विश्वास दिलाया के मूज़े इस अफ़ायर से कोई प्राब्लम नही है मैं बस जानना चाहता हू.


तो दीदी ने बताया के वो एक जिम ट्रेनर है उसका नाम मनोज है.तो फिर दीदी ने बताया के 2 साल से उनका अफ़ायर चल रहा है.
मैने भी उसपे कोई ऐतराज नही बताया और उनका अफ़ायर चालू रहने दिया. क्यों की उसमे मेरा ही स्वार्थ था.


धीरे धीरे मनोज के साथ मैं भी बाते करने लगा .हुमारी अच्छी दोस्ती हो गई थी.
हम तीनो एकदम घुलमिल गये.


एक दिन मैने मनोज को बोला के मैं पूजा दीदी और तुम्हारी चुदाई देखना चाहता हू.
तो मनोज ने नही बोला लेकिन बाद मैं वो तैयार हो गया और वो बोला के उससे अच्छा आइडिया मेरे दिमाग़ मैं है.तो मनोज ने कहा के उसके 3 दोस्त है जो तेरे दीदी को चोदना चाहते है. मूज़े कोई प्राब्लम नही था पर दीदी मानेगी के नही ये विश्वास नही था.
तो मनोज ने कहा के ऐसी कोई बात नही है.तेरी दीदी मेरे 5-6 दोस्तो के साथ आलरेडी सोई हुई है.मैं तो शॉक हो गया.
फिर मैं भी राज़ी हो गया .
और हम प्लान बनाने लगे.


मनोज के दोस्त का लोनवाला मैं फार्महाउस था वाहा पे सब अड्जस्टमेंट कराई गई .
दीदी को लेकर मैं लोनवाला निकला.
हम वाहा पे पहुचे तो वाहा पे मनोज के साथ उसके 9 फ्रेंड मिजूद थे.मैं घबरा गया .


पर दीदी बोली की इतने सारे लंड लेने मैं मज़ा आएगा मूज़े.
सबने अपने अपने कपड़े निकल फेके .सब नंगे हो गये.और दीदी के और बढ़ने लगे.
बुत मनोज ने सबको रोका और कहा की नही.आज ओपनिंग तो नरेश याने के मैं करेगा.मैं चोवोक गया .मनोज बोला की टेन्षन मत ले ये प्लान तेरे दीदी का ही है.


दीदी को देखा तो वो नंगी होकर हास रही थी.
और बोली के शर्मा मत भाई तू भी एंजाय क्र ले .चख ले जवानी मेरी.और उसने मेरी पंत उतार दी.
मेरा लंड तो टाइट हो गया था मेरा लंड देखकर दीदी की हवस भारी नज़र और खिल गई.और मेरा लंड दीदी ने मूह मे ले लिया और लोलीपोप की तरह चूसने लगी.
मैं भी फिर दीदी के बूब्स दबाने लगा .


फिर दीदी को बेड पे लिटाया और उसकी गरम गरम चूत चाटने लगा.
दीदी आहह.आअहह आअहह करने लगी.
और कहने लगी के चोद दो अपनी रंडी बेहन को.


मैने उसको पूछा के कॉंडम लगा के चोदू या वैसे ही.तो दीदी बोली के तेरा लंड तो वैसे ही अच्छा लगेगा.चोद दो वैसे ही.
फिर मैने मेरा लंड दीदी के चूत मैं घुसा दिया.दीदी ज़ोर से चिल्लाने लगी.हुमारी चुदाई वो सब देख रहे थे और अपना अपना लंड मसल रहे थे.
मैं ज़टके लागत गया और कुछ ही देर मैं मेरा पानी निकल गया वो सारा पानी मैने दीदी के चूत मैं ही छ्चोड़ दिया.


मेरा होते ही बाकी सब लोग दीदी के उपर चढ़ गये.भूके कुत्ते की तरह सब दीदी को रगड़ रहे थे चाट रहे थे.
दीदी तड़प रही थी.


दो बंदे दीदी के मूह मैं लंड दे रहे थे.दो बंदे दीदी के बूब्स दबा रहे थे. मनोज और बाकी दोस्त दीदी की चूत और गांड सहला रहे थे.


फिर एक बंदा बेड पे सोया और उपर दीदी को बैठाया और लंड उसके चूत मैं डाल दिया.दूसरे आदमी ने पिच्चे से अपना लंड भी दीदी के चूत मैं घुसा दिया.दीदी तड़पने लगी.पर वो न्ही मानने वाले थे.और ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगे.तीसरे आदमी ने अपना लंड दीदी के गांड मैं घुसा दिया.और धक्के मरने लगा.


पूरे रूम मैं सिर्फ़ पाचक पाचक और
आआआअहह.आआआआअहह ऐसा आवाज़ घूम रहा था.
1 घंटे बाद सब का पानी निकल गया सबने मिलकर दीदी के मूह पर अपना पानी निकल दिया.


सब तक चुके थे.
मेरा लंड फिर से टाइट होने लगा तो मैं दीदी के पास गया.तो दीदी बोली क्या बात है मेरे भाई.आज बहूत ही लंड उठ रहा है तेरा.आ जाओ मैं उसको प्यार करती हू.
फिर दीदी ने मेरे लंड को अपने मुह मैं लिया.और चूसने लगी.
मूज़े बड़ा मज़ा आ रहा था.
मैं भी दीदी की चूत सहलने लगा.दीदी भी फिरसे गरम हो गई.
और आहे भरने लगी.
फिर मेरे दिमाग़ मैं एक आइडिया आई.
कहा के दीदी आज हम आपके चूत मैं 3-3 लंड डालेंगे .दीदी बोली ठीक है.मज़ा आएगा.


फिर मनोज बेड पे सो गया .उपेर दीदी को बिताया और चूत मैं लंड सेट किया.नीचे से मैने मेरा लंड अंदर घुसा दिया.दीदी चिल्लाने लगी.फिर मनोज के दोस्त ने उसका लंड भी अड्जस्ट करके चूत मैं घुसा दिया.और धीरे धीरे धक्का देने लगे.


दीदी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी.पर हम कहा रुकने वाले थे.हम चोदते रहे.चूत के उंड़र हम तीनो का लंड टकराने लगे.बहूत मज़ा आ रहा था.
दीदी भी अब आआहह.फुक्कककककक मीईए.हाआअरर्र्र्द्ड़सद्द्डड.चूऊओद्द्द्द्द्दद्डूऊऊ जूओर्र्र्रर सीईई.ऐसे चिल्लाने लगी.


थोड़ी देर बाद हम तीनो ने चूत मैं ही अपना पानी चोद दिया.
जब लंड बाहर निकले तो तीनो के लंड .वीर्या से लथपथ थे.
उस रात हम ने 5 बार पूजा दीदी को चोदा.
दूसरे दिन दोपहर तक चुदाई की.
और फिर हम रिटर्न घर पे आ गये


तो दोस्तो कैसी लगी यह कहानी.




[Total: 0    Average: 0/5]


loading…

..

No comments:

Post a Comment